Monday, 5 September 2016

होड़

















होड़ लगी है साथ छोड़नेवालों की ।
हमनवां तक ने दगा दिया है,
तेरा क्या यक़ीन, ओ मेरा साया,
अँधेरा तो अँधेरा, उजाले में भी साथ दे,
मेरा साथ छोड़नेवालों का !